close
Hindi Poetry

Pyaar ke naam

तेरी जुल्फों का पहरा, तेरी आंखों सा गहरा ,
तेरी बातें नशीली , तेरा मासूम चेहरा ।
तू जो बाहों में आये, घड़ी रुक सी जाये ,
तेरा मुस्कुराना कयामत सा ढाये ।
तू है एक कली या लड़ी, फुलझड़ी है,
कोई देखे तुझको तो दिल को आफ़त बड़ी है।
तेरी फिक्र हर पल,तेरा ज़िक्र हरदम,
तेरे पास आने के लमहे तो हैं कम ।
मगर उन पलों को है रक्खा समेटे,
भीग जायेगी आंखें उन्हें पलकों में लेके ।
रहना खुशी से तू रहना जहां पर ,
करेगा दुआएें ये आशिक यहां पर ।

Anurag Pandey

The author Anurag Pandey

A person with dreams and enough passion to make them true, emotional, die hard fan of Shah Rukh and F.R.I.E.N.D.S, engineer, poet at heart, writer.

Leave a Response